Exams

REET : राजस्थान में कल क्या बंद रहेगा इंटरनेट, गहलोत सरकार ने लिया ये फैसला

राजस्थान में 26 सितंबर को रीट परीक्षा के चलते इंटरनेट बंद रहेगा या नहीं, इस संबंध में गहलोत सरकार ने फैसला ले लिया है। राज्य सरकार ने प्रदेश में इंटरनेट बंद करने का फैसला संभागीय आयुक्तों पर छोड़ा है। संभागीय आयुक्त स्थानीय परिस्थियों के अनुसार नेटबंदी का निर्णय लेंगे। गृह विभाग की ओर से इस संबंध में एडवाइजरी जारी की गई है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि परीक्षा के दौरान नेटबंदी का अधिकार जिला प्रशासन को सौंपा गया है। जिला प्रशासन परिस्थितियों को देखते हुआ वहां नेटबंदी पर निर्णय ले सकेगा। 

एडवाइजरी में कहा गया है कि 26 सितंबर को राजस्थान में रीट परीक्षा आयोजित होने जा रही है जिसमें 16 लाख परीक्षार्थी भाग लेंगे। ऐसे में बड़े स्तर पर परीक्षार्थियों का राजस्थान के एक जिले से दूसरे जिले में आवागमन रहेगा। ऐसी स्थिति में फेक न्यूज, दुर्घटना की अफवाहें, पेपर लीक की अफवाहें आदि से कानून व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। ऐसे में संभाग एवं जिला स्तरीय अधिकारियों जैसे संभागीय आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक पब्लिक ऑर्डर बनाए रखने के लिए तत्समय स्थिति का आकलन कर नेट बंद करने का निर्णय ले सकते हैं।’

यहां पढ़ें इंटरनेट बंद करने को लेकर जारी एडवाइजरी

राजस्थान में रीट तैयारियां पूरी
राजस्थान में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 26 सितंबर को होने वाली अध्यापक पात्रता परीक्षा की सभी तैयारियां पूरी कर ली है। बोर्ड के अध्यक्ष एवं रीट परीक्षा के मुख्य समन्वयक डी पी जारोली ने आज यहां बताया कि बोर्ड प्रबंधन ने राज्य के सभी परीक्षा केंद्रों को वीडियोग्राफी के दायरे में लिया है और परीक्षा से जुड़े ड्यूटी पर कार्मिकों की मोबाइल पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। उन्होंने बताया कि परीक्षा के लिए राज्य में 4०19 परीक्षा केंद्रों पर 16 लाख 51 हजार 812 परीक्षाथीर् परीक्षा देंगे। द्वितीय स्तर की परीक्षा में 3०93 परीक्षा केंद्रों पर 12 लाख 67 हजार 539 तथा प्रथम स्तर की परीक्षा में 3993 परीक्षा केंद्रों पर 12 लाख 67 हजार 983 परीक्षाथीर् परीक्षा में पंजीकृत किए गए हैं जिनके प्रवेश पत्र रीट की वेबसाइट पर जारी किए जा चुके हैं। 

डा जारोली ने बताया कि परीक्षाथीर् को परीक्षा केंद्र पर एक घंटा पहले पहुंचना होगा और सुरक्षा जांच के दायरे से गुजरना होगा। नकल एवं अनुचित साधनों की रोकथाम के लिए सरकार के सहयोग से बोर्ड प्रबंधन सुरक्षा एजेंसियों के संपर्क में है और परीक्षार्थियों को भी सर्जिकल मास्क उपलब्ध कराए जा रहे हैं। बोर्ड प्रबंधन ने परीक्षा केंद्रों की गतिविधि देखने के लिए आज दिन तख तीस हजार से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे केंद्रों पर स्थापित करा दिए हैं तथा रीट कायार्लय में कंट्रोल रूम स्थापित किया है। बोर्ड ने दस जिलों को संवेदनशील मानते हुए विशेष सुरक्षा इंतजाम किए है।

उन्होंने परीक्षार्थियों से अपील की है कि उनके अध्यापक बनने के सपने के साकार होने का समय आ गया। वे अपना मनोबल ऊंचा रखते हुए, अपने ईष्ट पर विश्वास रखते हुए परीक्षा दे और किसी भी अनुचित बात मे सहभागी नहीं बने। 

Related Articles

Back to top button