Exams

UPSC IAS Prelims Cut Off 2021 : जानें कितना रह सकता है यूपीएससी प्रीलिम्स का कटऑफ

UPSC IAS Prelims Cut Off 2021 : संघ लोक सेवा आयोग ( यूपीएससी ) की ओर से आयोजित सिविल सर्विसेज की प्रारंभिक परीक्षा रविवार को संपन्न हो गयी। परीक्षा में आधे से अधिक परीक्षार्थी अनुपस्थति रहे। परीक्षा के लिए 43 हजार 594 अभ्यर्थियों को शामिल होना था लेकिन करीब बीस हजार पांच सौ परीक्षार्थी ही शामिल हो पाए। प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने केंद्रीय विद्यालय शेखपुरा तथा जेडी वीमेंस कॉलेज सहित कई केंद्रों का भ्रमण कर आयोग द्वारा प्राप्त दिशा-निर्देश एवं मानक के अनुरूप परीक्षा के संचालन का निरीक्षण किया। उन्होंने केंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था, परीक्षा की स्वच्छता, परीक्षार्थियों की उपस्थिति सहित कई अन्य पहलू का अवलोकन किया। आयुक्त के अलावा डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा परीक्षा में शांतिपूर्ण व्यवस्था का जायजा लेते रहे। यूपीएससी द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के अनुरूप परीक्षा के सफल, शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त संचालन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था की गई थी। सभी केंद्रों पर मजिस्ट्रेट, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल तैनात थे तथा नियंत्रण कक्ष से लगातार निगरानी की गई।

परीक्षा में इस बार तथ्य पर आधारित ज्यादातर प्रश्न पूछे गए। इससे करेंट अफेयर के सवालों ने परीक्षार्थियों को परेशान किया। वहीं, सबसे ज्यादा प्रश्न प्राचीन इतिहास से पूछे गए। प्राचीन, मध्यकालीन व आधुनिक इतिहास से कुल 20 प्रश्न थे। वहीं, भूगोल में 10 से 12 प्रश्न, राज व्यवस्था में 17 से 18 प्रश्न, अर्थशास्त्रत्त् में 15 से 18 प्रश्न, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में 15-18 प्रश्न, पर्यावरण तथा कृषि में 5 से 8 प्रश्न पूछे गए थे।

एक्सपर्ट बोले – कट ऑफ 105 से 110 तक होने की संभावना
इतिहासकार और परीक्षा विशेषज्ञ डॉ. एम रहमान ने बताया कि सामान्य अध्ययन के प्रश्नों में इतिहास, भूगोल, राजव्यवस्था, अर्थव्यवस्था, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, कृषि, पर्यावरण तथा समसामयिक विषयों से प्रश्न पूछे गए। सामान्य वर्ग के छात्रों का कट ऑफ 105 से 110 तक होने की संभावना है। पटना में 89 केंद्र बनाये गये थे। परीक्षा दो पालियों में हुई। पहली पाली सुबह 9.30 से 11.30 बजे तक व दूसरी 2.30 से 4.30 बजे तक हुई। परीक्षा के दौरान मोबाइल व इलेक्ट्रॉनिक्स वस्तु ले जाने पर रोक थी।

प्रत्येक प्रश्न के लिए दो अंक निर्धारित
परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार का था। सामान्य अध्ययन में प्रश्नों की संख्या 100 थी। प्रत्येक के लिए दो अंक निर्धारित थे। एक गलत उत्तर देने पर एक तिहाई अंक काटे जाने का प्रावधान है। प्रश्न तथ्यात्मक तथा अवधारणा आधारित है। जिन विद्यार्थियों ने एनसीईआरटी का गहनता पूर्वक अध्ययन किया होगा निश्चित रूप से उसकी परीक्षा अच्छी गई होगी। सिविल सेवा तर्कशक्ति परीक्षण (सीसैट) की अगर बात की जाए तो प्रश्न गणित, तर्कशक्ति तथा परिच्छेद पर आधारित थे।

परीक्षार्थियों के लिए चलाई गईं बसें
बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से रविवार को संघ लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा के परीक्षार्थियों के लिए राजधानी के भीतर व विभिन्न जिलों के लिए बसों का परिचालन किया गया। निगम के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अरविंद कुमार ने बताया कि पटना सहित बिहार के विभिन्न शहरों में संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में परीक्षार्थियों की बढ़ी भीड़ के लिए विभिन्न केंद्रों के लिए परीक्षा केंद्र तक बसों का परिचालन किया गया। पटना में छात्र/ छात्राओं को परीक्षा केंद्र पटना नगर सेवा की बसों के चलाए जाने से सुविधा हुई। साथ ही परीक्षा के बाद पटना के विभिन्न जगहों तक व अलग अलग जिलों के लिए भी नगर सेवा की इलेक्ट्रिक और सीएनजी की बसों को लगाया गया।

Related Articles

Back to top button