Exams

NEET 2021 : दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 496 छात्रों ने पास की नीट परीक्षा, 51 छात्र एक ही स्कूल से

दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 496 विद्यार्थियों ने इस साल नीट परीक्षा पास की है जिनमें से 51 छात्र एक ही स्कूल से हैं। अधिकारियों ने उक्त जानकारी दी। 720 में 700 अंक पाने वाले कुशाल गर्ग को नीट परीक्षा में 165वीं रैंक मिली है और एम्स में सीट भी मिली है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ”वाह! दिल्ली के सरकारी स्कूल के इतने सारे छात्रों ने नीट परीक्षा पास की है। कुछ साल पहले तक इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। मैं छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को बधाई देता हूं। साथ मिलकर आप सभी ने साबित कर दिखाया कि यह संभव है।”

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी ट्वीट करके छात्रों को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया, ”दिल्ली के सरकारी स्कूल के छात्र कुशाल गर्ग ने इतिहास रचा। उन्होंने 720 में से 700 अंक प्राप्त किए हैं। ऑल इंडिया रैंक 165 और एम्स में सीट पक्का किया। पिता दसवीं पास बढ़ई हैं। मां 12वीं पास गृहिणी हैं। बधाई हो कुशाल। तुम पर गर्व है।”
     
सिसोदिया ने लिखा, ”नीट परीक्षा में दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बच्चों ने फिर रचा इतिहास। एक ही स्कूल के कुल 35 बच्चों में से 25 का नीट में चयन। यह है अरविंद केजरीवाल जी का शासन मॉडल। यह है असली राष्ट्र निर्माण। पूरे देश के लिए शिक्षा का मॉडल पेश कर रही दिल्ली की टीम-एजुकेशन को बधाई।”

बढ़ई के बेटे ने नीट परीक्षा में लहराया परचम, केजरीवाल और सिसोदिया ने दी बधाई
     
उन्होंने लिखा है, ”दिल्ली सरकार के स्कूलों में सिर्फ़ अच्छी बिल्डिंग और टीचर्स ट्रेनिंग का काम नही हुआ। आज पढ़ाई इतनी शानदार हो गई है कि नीट में टॉप सरकारी स्कूल देखिए –  1. यमुना विहार स्कूल – 51 छात्र। 2. पश्चिम विहार स्कूल -28 छात्र। 3. आईपी एक्टेंशन – 16 छात्र। 4. लोनी रोड स्कूल – 15 छात्र।”

वो स्कूल जहां से 51 छात्राओं ने मारी बाजी
सी ब्लाक यमुना विहार स्थित डॉ. संपूर्णानंद एसकेवी नंबर 1 स्कूल की 51 छात्राओं ने इस साल नीट की परीक्षा उत्तीर्ण की है विगत वर्ष यह संख्या मात्र 40 थी। स्कूल की प्रमुख सीमा वाधवा ने बताया कि पहले हमें यही जानकारी थी कि 45 छात्राओं ने यह परीक्षा उत्तीर्ण की है लेकिन बाद में पता चला कि 6 और छात्राएं सफल रही हैं। यह संख्या पिछले साल के मुकाबले अधिक है। हमारे यहां लगभग 80 छात्राओं ने नीट की परीक्षा दी थी जिसमें से 51 छात्राओं ने इसे क्वालिफाई किया है। अब काउंसलिंग में पता चलेगा कि किसे कहां दाखिला मिला। स्कूल की प्रमुख सीमा वाधवा ने बताया कि हम विद्यार्थियों का विशेष रूप से ध्यान देते हैं। विगत वर्ष भी नीट उत्तीर्ण करने वाली छात्राओं को बुलाया गया था जिससे वह परीक्षा की तैयारी कर रही छात्राओं को गाइड कर सकें। इस साल भी यहां से नीट उत्तीर्ण करने वाली छात्राओं को बुलाया जाएगा और बोर्ड पर नाम लिखा जाएगा। इस स्कूल के मेंटर एक मेंटर संजय प्रकाश बताते हैं कि इस वर्ष भी बहुत सीमित साधनों में हम बच्चों से संपर्क साध पाते थे। हमारे यहां के दो शिक्षक सीमा कांत और प्रेरणा चंदेल लगातार छात्राओं के संपर्क में रही और उनको प्रेरित करती रही। एक विद्यालय के परामर्शदाता शिक्षक के तौर पर मेरा प्रयास था कि छात्राओं को किसी तरह की परेशानी न आए। 

संबंधित खबरें



Related Articles

Back to top button