Exams

REET 2021 : ट्विटर पर छाया रीट भर्ती के पद 50000 करने का मुद्दा, आज बड़ा फैसला होने के संकेत

REET 2021 : राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा ( रीट ) भर्ती में पदों की संख्या बढ़ाकर 50 हजार करने का मुद्दा बुधवार को ट्विटर पर जबरदस्त तरीके से छाया रहा। हैश टैग #REET_50000_गहलोत_सरकार के साथ ढाई लाख से ज्यादा ट्वीट किए गए। एक तरफ जहां जयपुर के शहीदी स्मारक पर  रीट भर्ती में पद बढ़ाने की मांग को लेकर 70 दिनों से ज्यादा समय से धरना चल रहा है, वहीं सोशल मीडिया पर भी हैश टैग #REET_के_पद_बढ़ाकर_50000_करो_ #रीट_के_पद_बढ़ाकर_50000_करो और #रीट_में_पद_50000_करो के साथ बड़ा आंदोलन चलाया जा रहा है। इसके अलावा रीट पास अभ्यर्थियों को पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का समर्थन मिलने के बाद गहलोत सरकार पर दबाव और बढ़ गया है। तृतीय श्रेणी शिक्षकों के 31 हजार पदों को बढ़ाकर 50 हजार करने की मांग को लेकर बेरोजगारों के प्रतिनिधि मंडल ने आज (बुधवार)  शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला से मुलाकात की। मंडल ने पीटीआई और विशेष शिक्षक के मामले पर भी चर्चा की। मुलाकात के बाद शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने बेरोजगारों को सकारात्मक आश्वासन दिया है। 

बेरोजगारों के प्रतिनिधि मंडल ने कि शिक्षामंत्री ने संकेत दिए है कि सीएम अशोक गहलोत जल्द ही पद बढ़ाने की मंजूरी दे सकते हैं। सूत्रों के अनुसार गहलोत सरकार ने 31 हजार से 50 हजार शिक्षकों के  पद बढ़ाने की पूरी तैयारी कर ली है। 

सीएम अशोक गहलोत ने आज (बुधवार) शाम 5.30 बजे अपने आवास पर मंत्रिपरिषद की अहम बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कई तरह की पाबंदिया लगाई जा सकती हैं। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर बताया है कि मीटिंग में एक्सपर्ट डॉक्टर भी अपनी राय रखेंगे। उम्मीद की जा रही है कि बैठक में रीट पदों की संख्या बढ़ाने को लेकर सीएम अशोक गहलोत अहम निर्णय ले सकते हैं।

दरअसल बेरोजगार युवाओं का तर्क है कि राज्य सरकार ने दिसंबर 2019 में रीट से 31000 शिक्षक भर्ती का ऐलान किया था लेकिन अभी तक भर्ती की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है। कोरोना के चलते रीट समय पर नहीं हो सकी और 6 बार परीक्षा तिथि आगे खिसकाई गई। ऐसे में सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर बेरोजगार युवा मांग कर रहे हैं कि दो साल में खाली पदों की संख्या में बढ़ोतरी हो चुकी है, इसलिए सरकार भर्ती में पद बढ़ाकर बेरोजगारों को राहत दे।

Related Articles

Back to top button