Exams

UPPBPB UP Police SI Exam 2021 : यूपी पुलिस एसआई भर्ती परीक्षा दोबारा कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन, केस दर्ज

UPPBPB UP Police SI Exam 2021 : उत्तर प्रदेश पुलिस की दरोगा भर्ती की परीक्षा दोबारा कराने की मांग लेकर कंपनीबाग में प्रदर्शन करने वालों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। कंपनी बाग चौकी इंचार्ज गोविंद कुमार ने विनय पांडेय और उनके साथियों पर कर्नलगंज थाने में विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। एफआईआर के मुताबिक पुलिस को कंपनी बाग के सुरक्षा गार्ड से सूचना मिली कि 26 दिसंबर को विनय पांडेय के नेतृत्व में 100 लड़के गेट नंबर तीन पर दरोगा भर्ती की परीक्षा फिर कराने के लिए प्रदर्शन करने पहुंचे। उन्हें रोकने का प्रयास किया गया तो बिना टिकट अंदर प्रवेश करने लगे और गाली-गलौच की। गार्डों से धक्कामुक्की की। इस सूचना पर पहुंचे दरोगा गोविंद कुमार ने देखा कि लगभग 200 युवाओं की भीड़ है।

छानबीन पर पता चला कि विनय पांडेय ने एक्जाम क्रैकर के नाम से यूट्यूब पर एक चैनल बनाया है और उसी की मदद से प्रदर्शन करने के लिए सभी युवकों को मैसेज किया था। इसी सूचना पर युवक वहां पहुंचे। इसकी किसी अधिकारी को सूचना नहीं दी गई थी। हाईकोर्ट के आदेश पर कंपनी बाग में धरना-प्रदर्शन करना निषेध है।

सोशल मीडिया पर भी चला था आंदोलन
कुछ दिनों पहले यूपी पुलिस एसआई भर्ती के बहुत से अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया पर आंदोलन चलाकर दरोगा भर्ती परीक्षा रद्द कर इसे फिर से कराने की मांग की थी। आंसर-की देखने के बाद इन अभ्यर्थियों का कहना था कि एग्जाम में धांधली हुई है। ट्विटर पर हैशटैग #UPSI2021SCAM और #upsi2021 के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ को टैग करते हुए इन अभ्यर्थियों ने लिखा कि बहुत से छात्रों के 152 से लेकर 159 प्रश्न तक सही बैठ रहे हैं, जबकि प्रश्न पत्र इतना आसान नहीं था। इसके अलावा इन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है ऑनलाइन परीक्षा के एक प्रश्न की फोटो पर भी सवाल उठाया। इस तस्वीर में लैपटॉप में ऑनलाइन परीक्षा का एक प्रश्न खुला हुआ था। 

धांधली के आरोपों पर भर्ती बोर्ड UPPBPB ने दिया था जवाब
उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ( UPPBPB या  UPPRPB ) लखनऊ  ने यूपी पुलिस में एसआई के 9534 पदों पर भर्ती के लिए हुई परीक्षा में धांधली के आरोपों को निराधार बताते हुए खारिज कर दिया था। यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने कहा कि सोशल मीडिया पर हैश टैग यूपीएसआई2021स्कैम ( #UPSI2021SCAM ) और यूपीएसआईस्कैम2021 ( #upsiscam2021 ) के साथ किए गए ट्वीट पूरी तरह भ्रामक है। बोर्ड ने अभ्यर्थियों से अनुरोध करते हुए कहा है कि वह अफवाहों पर भरोसा न करें एवं आधिकारिक जानकारी के लिए भर्ती बोर्ड की वेबसाइट uppbpb.gov.in चेक करें। 
 

Related Articles

Back to top button