Jobs

Jharkhand Teacher Recruitment 2021: 26 हजार शिक्षक भर्ती को फिर बदलेगी नियमावली

Jharkhand Teacher Recruitment 2021: राज्य के प्रारंभिक स्कूलों में 26 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया नियमवाली के फिर से संशोधन के बाद ही शुरू होगी। नियमावली में भोजपुरी, अंगिका और मगही विषय के शामिल होने के बाद नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जाएगी। स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग फिर से इसकी तैयारी शुरू कर रहा है। प्राथमिक, मिडिल से लेकर हाई स्कूलों में शिक्षकों का पद जिला स्तर का है और उनकी नियुक्ति जिला स्तर पर होती है। राज्य सरकार ने दो दिन पूर्व ही जिला स्तर की नियुक्ति के लिए जनजातीय भाषाओं और क्षेत्रीय भाषाओं की सूची जारी की है। इस आधार पर अब फिर से नियमावली में संशोधन किया जाएगा।

पहले स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग की संशोधित हुई नियमावली राज्य स्तरीय पदों के लिए जनजातीय भाषाओं और क्षेत्रीय भाषाओं की सूची के आधार पर तैयार की गई थी। इसमें भोजपुरी, अंगिका और मगही भाषा को शामिल नहीं किया गया था, लेकिन अब इसे शामिल करने के बाद ही नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जाएगी। शिक्षक नियुक्ति नियमावलियों को फिर से संशोधन के बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो समेत वित्त और विधि विभाग से मंजूरी लेनी होगी। इसके बाद इसे कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। इसमें झारखंड से ही मैट्रिक और इंटरमीडिएट पास किए अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में शिक्षक पात्रता परीक्षा पास अभ्यर्थी ही शामिल हो सकेंगे और नियुक्ति के लिए उन्हें झारखंड कर्मचारी चयन आयोग की ओर से आयोजित होने वाली परीक्षा में शामिल होना होगा। इसमें 2013 और 2016 टेट के करीब 1.01 लाख अभ्यर्थी शामिल होंगे।

प्रारंभिक स्कूलों में 26 हजार शिक्षकों की नियुक्ति होनी है। इसमें 13 हजार पदों पर सीधी नियुक्ति होगी और 13 हजार पद पारा शिक्षकों के लिए आरक्षित रखे गए हैं। इस नियुक्ति प्रक्रिया में शिक्षकों की नियुक्ति नए वेतनमान पर होगी। इसमें शिक्षकों को 5200-20,200 का वेतनमान दिया जाएगा और प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों को 2400 और मिडिल स्कूल के शिक्षकों को 2800 का ग्रेड पे मिलेगा। पूर्व में इन्हें 9300-34,800 का वेतनमान और 4200 व 4600 ग्रेड पे मिलता था।

एक जनवरी से पारा शिक्षक होंगे सहायक अध्यापक
राज्य के 65 हजार पारा शिक्षक एक जनवरी 2022 से सहायक अध्यापक कहलाएंगे। पारा शिक्षकों की सेवाशर्त नियमावली और बढ़े हुए मानदेय पर कैबिनेट की अगली बैठक में मुहर लगेगी। वहीं, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 29 दिसंबर को राज्य सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में इसकी विधिवत घोषणा करेंगे। पारा शिक्षकों को एक जनवरी 2022 के प्रभाव से ही बढ़ा हुआ मानदेय मिलेगा। इसमें शिक्षक पात्रता परीक्षा पास प्रशिक्षित करीब 13 हजार पारा शिक्षकों को 50 फीसदी बढ़ोतरी के साथ मानदेय मिलेगा, वहीं, 50 हजार प्रशिक्षित पारा शिक्षकों को 40 फीसदी बढ़ोतरी के साथ मानदेय का भुगतान मिलेगा। उन्हें फरवरी में मिलने वाला जनवरी का मानदेय इसी बढ़ोतरी के साथ दिया जाएगा। इसके अलावा आकलन परीक्षा का आयोजन होगा, जिसमें पास करने पर प्रशिक्षित शिक्षकों की 10 फीसदी अतिरिक्त मानदेय की बढ़ोतरी की जाएगी। पारा शिक्षकों को ईपीएफ से लेकर स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं भी दी जाएंगी। 

Related Articles

Back to top button