Results

पिता चलाते हैं खैनी की दुकान, यूपीएससी पास कर अफसर अफसर बना बेटा निरंजन कुमार

UPSC CSE 2020 Result : बिहार के नवादा जिले के पकरीबरावां प्रखण्ड मुख्यालय के रहने वाले अरविन्द कुमार एवं यशोदा देवी के पुत्र निरंजन कुमार ने यूपीएससी में सफलता पाई है। इसे 535वां रैंक प्राप्त हुआ है। इसके पूर्व उन्हें 2016 में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता मिली थी। उस समय उन्हें 728वां रैंक प्राप्त हुआ था। फिलहाल वे दिल्ली में इनकम टैक्स में डिप्टी कमिश्नर के पद पर आसीन है। 
    
निरंजन के पिता मूलतः वारिसलीगंज के निवासी है। वे वर्षों से पकरीबरावां में रहे हैं। वे पकरीबरावां बाजार में खैनी की दुकान चलाते हैं। निरंजन ने वर्ष 2004 में जवाहर नवोदय विद्यालय रेवार नवादा से मैट्रिक की परीक्षा पास की। वर्ष 2006 में उसने साइंस कॉलेज पटना से इंटर की परीक्षा पास की। इसके बाद आईआईटी किया। आईआईटी करने के बाद वे कोल इंडिया लिमिटेड धनबाद में सहायक मैनेजर के पद पर काम किया। इस बीच उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू की। कम समय मिलने के बावजूद भी वे पूरी तत्परता से लगे रहे। परिणामतः वर्ष 2016 में उन्हें यूपीएससी में सफलता मिली और उन्हें इनकम टैक्स में डिप्टी कमिश्नर का पद मिला। इसके बाद भी वे लगे रहे। 

नौकरी में रहने के कारण एवं परिवार के सदस्यों के बीच समय देने के कारण उनके पास समय का काफी अभाव रहता था। बावजूद इसके किसी तरह समय निकालकर अध्ययन किया करते थे। परिणाम यह हुआ कि एक बार फिर उन्हें यूपीएससी में सफलता मिली और पहले से बेहतर रैंक प्राप्त हुआ। 

निरंजन ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता- पिता, गुरुजनों, परिवार के सदस्यों, पत्नी एवं अपनी बेटी को दिया है। उनकी सफलता से पकरीबरावां में खुशी का माहौल है। जानकारी मिलते ही लोगों ने निरंजन एवं उसके पिता को बधाई देना शुरू किया। उसकी सफलता पर पकरीं निवासी संजय कुमार रौशन, टुनटुन वर्णवाल, समाजसेवी टुनटुन पासवान सहित अन्य ने खुशी का इजहार किया है। 

Related Articles

Back to top button