Results

REET 2021 : 22 नवंबर के बाद रीट से राजस्थान में 31000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया आगे बढ़ने की संभावना

REET 2021 : राजस्थान में 31000 शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया रीट रिजल्ट जारी होने के बाद भी अभी ठहराव के मोड में है। लेकिन संभावना है कि 22 नवंबर के बाद रीट से 31000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया आगे बढ़ सकती है। क्योंकि रीट लेवल-1 में बीएड अभ्यर्थियों को मौका देने का मामला जोधपुर हाईकोर्ट में है। 9 नवंबर को अदालत ने मामले पर सुनवाई के लिए अगली तारीख 22 नवंबर तय की थी। यदि 22 नवंबर को हाईकोर्ट मामले पर आदेश सुनाता है तो राजस्थान में शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ सकती है।

क्या है रीट लेवल-1 में बीएसटीएस और बीएड अभ्यर्थियों का विवाद:
रीट लेवल-1 की भर्ती प्रक्रिया से बीएड धारियों को बाहर करने को लेकर बीएसटीएस अभ्यर्थियों मांग कर हरे हैं। इसी को लेकर अभ्यर्थियों ने कोर्ट में याचिका दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 9 नवंबर को हुई सुनवाई में राज्य सरकार ने हलफनामा दायर कर कहा है कि लेवल-1 के पदों के मुकाबले पर्याप्त संख्या में बीएसटीसी अभ्यर्थी मौजूद हैं। एनसीटीई का नोटिफिकेशन राज्य में लागू नहीं होता है।  

शिक्षा विभाग की ओर से जारी रीट नोटिफिकेशन में लेवल-1 में केवल बीएसटीसी वालों को ही पात्र माना गया था लेकिन बीएड डिग्रीधारियों के हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद हाईकोर्ट ने बीएड वालों को दोनों लेवल में शामिल करने के आदेश दिए थे। दूसरी ओर बीएसटीसी अभ्यर्थियों ने भी हाईकोर्ट में एनसीटीई के नोटिफिकेशन को चुनौती दे दी थी।

बीएड सेकंड ईयर के अभ्यर्थियों को भी मौका देने का ऐलान:
राजस्थान सरकार ने रीट पास करने वाले वाले बीएड अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को घोषणा करते हुए कहा कि बीएड द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी शिक्षक भर्ती की अंतिम तिथि तक बीएड की डिग्री मिलने पर शिक्षक भर्ती के लिए योग्य होंगे। सीएम गहलोत ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में यह फैसला लिया। अब तक राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) के नियमों के अनुसार रीट के नतीजे तक बीएड की डिग्री मिलने पर ही भर्ती के योग्य मानने का प्रावधान था। 

इस कारण बीएड अभ्यर्थियों को मिला मौका-
कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों के चलते बीएड में अध्ययनरत हजारों अभ्यर्थियों का परीक्षा परिणाम रीट 2021 के परीक्षा परिणाम से पहले घोषित नहीं हो पाया है। कुछ की परीक्षाएं होना अभी बाकी है, तो कुछ का टाइम टेबल ही जारी नहीं हुआ है। इन विद्यार्थियों से रीट का आवेदन कराते समय सरकार ने कहा था कि इन्हें रीट की पात्रता का मौका दिया जाएगा। अब गहलोत सरकार के इस फैसले के बाद इन अभ्यर्थियों को राजस्थान प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय अध्यापक सीधी भर्ती में आवेदन की अंतिम दिनांक तक शैक्षणिक एवं प्रशैक्षणिक योग्यता प्राप्त करने का अवसर दिया जाएगा। यानी 31000 शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन की जो अंतिम तिथि होगी, उस तारीख तक इन्हें बीएड की डिग्री लेनी होगी।

राजस्थान बोर्ड ने रिकॉर्ड 2 नवंबर को रीट परीक्षा के 36 दिन के भीतर ही रीट का रिजल्ट जारी कर दिया था। करीब साढ़े 16 लाख उम्मीदवारों ने रीट का एग्जाम दिया था। उम्मीदवारों को था।

संबंधित खबरें

Related Articles

Back to top button